यूपी सरकार के मुआवजा तथा नौकरी के भरोसे के बाद, विवेक तिवारी का हुआ अंतिम संस्कार

0
198

यूपी सरकार के मुआवजा तथा नौकरी के भरोसे के बाद, विवेक तिवारी का हुआ अंतिम संस्कार

बीते शुक्रवार रात को उत्तर प्रदेश की पुलिस द्वारा एक संदिग्ध व्यक्ति जानकर विवेक तिवारी की गोली मारकर हत्या कर दी थी | विवेक तिवारी लखनऊ के एप्पल कंपनी के एरिया सेल्स मैनेजर थे वह अपने साथ जॉब करने वाली महिला सना खान को उनके घर छोड़ने जा रहे थे इसी बीच रास्ते में पुलिस द्वारा संदिग्ध समझकर उनका इनकाउंटर कर दिया गया और विवेक मौके पर ही मौत हो गई | विवेक के साथ एप्पल कंपनी के लिए काम करने वाली सना खान इस घटनाक्रम अकेली गवाह  है क्योंकि वह घटनाक्रम में विवेक की गाड़ी में मौजूद मौजूद थी |

यूपी सरकार के मंत्रियों के मौजूदगी में विवेक तिवारी का हुआ अंतिम संस्कार

दरअसल विवेक तिवारी के परिवारजनों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मौके पर उनके यहां आने की मांग की थी | विवेक की पत्नी कल्पना तिवारी ने सीएम योगी से अपने बेगुनाह पति की हत्या के बाद, CM  योगी को उनके घर आने एवं एक करोड़ रुपए के मुआवजे तथा सरकारी नौकरी की मांग की थी | उन्होंने कहा कि अगर मुख्यमंत्री यहां नहीं आए तो उनकी मांगे पूरी नहीं होगी | इस घटना के बाद शनिवार को लखनऊ के जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने विवेक के परिवार जनों को 25 लाख रुपए का मुआवजा तथा विवेक की पत्नी को नगर निगम विभाग में नौकरी देने का लिखित में पत्र देकर आश्वासन दिलाया | जिससे विवेक के परिवारजनों ने विरोध करना बंद कर दिया और वह इससे राजी हो गए |

आज रविवार विवेक तिवारी के अंतिम संस्कार में उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री बृजेश पाठक तथा कैबिनेट मंत्री आशुतोष टंडन विवेक के अंतिम संस्कार में शरीक हुए तथा इस घटना में कई थानों की पुलिस भी मौजूद रही |इन मंत्रियों दुख की घड़ी में विवेक के परिवारजनों से मुलाकात की |

विवेक की पत्नी कल्पना तिवारी के पुलिस पर सवाल

विवेक तिवारी की धर्मपत्नी कल्पना तिवारी ने पुलिस को सवालों के घेरे में खड़ा कर दिया है उन्होंने रोते बिलखते हुए कहा ‘मेरे पति को क्यों मारा गया पुलिस ऐसे कैसे किसी को भी मार सकती है’ तथा उन्होंने कहा जब तक मुख्यमंत्री उनके घर नहीं आएंगे तब तक अपने पति का अंतिम संस्कार नहीं  करेंगे, अगर मुख्यमंत्री नहीं आते हैं तो हम शव को मुख्यमंत्री आवास पर लेकर जाएंगे | उन्होंने कहा कि मुझे यूपी पुलिस अपने पति की मौत का जवाब चाहिए |

विवेक के साले विष्णु शुक्ला का कहना है कि क्या विवेक कोई आतंकी थे ? जो पुलिस ने उन पर गोली चलाई और पुलिस को यह किसने दिया कि बिना जांच-पड़ताल के किसी को भी गोली मार दे | उन्होंने इस पूरी घटना को सीबीआई से जांच होने की मांग की|

पुलिस ने बताया विवेक पर गोली चलाने का कारण

शुक्रवार रात को देने पर गोली चलाने वाले कॉन्स्टेबल प्रशांत चौधरी ने कहा कि मैंने रोड पर आधी रात को एक संदेश गाड़ी को देखा था जिसकी लाइट बंद थी और मैं उस गाड़ी के पास गया तो गाड़ी चालक ने मेरे ऊपर गाड़ी चढ़ाने की कोशिश की और मैंने खुद के बचाव के लिए उस पर गोली चला दी थी |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here